प्रतिमा Image

दर्शनिक श्रावक Visual Audience
व्रती श्रावक Fasting Devotee
सामायिक प्रतिमाधारी Current Image Holder
–  प्रोषधोपवास प्रतिमाधारीProstration Image Holder

 

 

रावकपदानि देवैरेकादश देशितानि येषु खलु।
स्वगुणा: पूर्वगुणै: सह संतिष्ठन्तेक्रमविवृद्धा:॥१३६॥RKS

 

श्रावक ग्यारह प्रतिमा, तीर्थंकर का ज्ञान।
पूर्व गुण संग क्रम चढ़े, निश्चय से पहचान॥७.१.१३६॥

 

निश्चय से तीर्थंकरों द्वारा श्रावक की ग्यारह प्रतिमाएँ कही गई है। श्रेणी में पहले वाली सभी प्रतिमाओं के गुणों के साथ चढ़ती है।

 

The Tirthankara has described eleven stages in a householder life. Each subsequent stage rise with previous all attributes.